जून में एकादशी कब है 2022 | June mein Ekadashi kab hai 2022

जून में एकादशी कब है 2022 | हिन्दू धर्म मे एकादशी का बहुत ही ज्यादा महत्व होता है। साल मे 24 एकादशी आते है लेकिन कई वर्ष 26 एकादशी भी आता है। एक महिना मे लगभग 2 एकदशी आता है। पौराणिक मान्यताओ के अनुसार जो एकादशी मे व्रत करते है वो कभी संकटों से नहीं घिरते। इसके अलावा धन एवं समृद्धि बनी रहती है। एकादशी मे व्रत रखने पर मान्यताए भी पूरी होती है। इस पोस्ट मे हम जानेंगे की मई में एकादशी कब है।

जून में एकादशी कब है 2022
जून में एकादशी कब है 2022

जून में एकादशी कब है 2022 | May mein Ekadashi kab hai 2022

सभी 26 एकादशी का अलग अलग नाम होता है एवं सभी एकादशी विष्णु भगवान को समर्पित होते है। जून 2022 मे कुल 2 एकादशी आएगा। एक एकादशी शुक्ल पक्ष और एक एकादशी कृष्ण पक्ष को होता है। अब जानते है जून मे एकादशी कब है 2022;-

जून में एकादशी कब है 2022;- वर्ष 2022 के जून में दो एकादशी मे एक निर्जला एकादशी जो शुक्ल पक्ष मे और दूसरा योगिनी एकादशी जो कृष्ण पक्ष पर मनाया जाएगा। निर्जला एकादशी 10 जून को सुबह 7:25 बजे से 11 जून शाम 5:45 बजे तक चलेगा। वही योगिनी एकादशी 23 जून रात 9:41 बजे से 24 जून रात 11:12 बजे तक चलेगा।

निर्जला एकादशी – 10 जून को सुबह 7:25 बजे से 11 जून शाम 5:45 बजे तक

योगिनी एकादशी – 23 मई रात 9:41बजे से 24 जून रात 11:12 बजे तक  

 

इसे भी पढे 

होली कब है 2023 का 

करवा चौथ कब है 2023

धनतेरस कब है 2023 मे 

गणेश जी मजेदार कहानियाँ   

 

आज आपने क्या जाना [जून में एकादशी कब है 2022]

उम्मीद हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा। इस पोस्ट मे मैंने आपको बताया जून में एकादशी कब है 2022।  यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करे। ऐसी ही पोस्ट के लिए हमारे ब्लॉग को सबस्क्राइब भी करे। हमे गूगल न्यूज मे सबस्क्राइब करे। जुलाई में एकादशी कब है 2022  

 

जून में एकादशी कब है 2022 FAQ

जून 2022 मे एकादशी कब है?

मई मे 2 एकादशी आएंगे। पहला निर्जला एकादशी 11 और दूसरा योगिनी एकादशी 23 जून को है।

2022 मे निर्जला एकादशी कब है ?

निर्जला एकादशी – 10 जून को सुबह 7:25 बजे से 11 जून शाम 5:45 बजे तक

2022 मे योगिनी एकादशी कब है ?

योगिनी एकादशी – 23 मई रात 9:41बजे से 24 जून रात 11:12 बजे तक  

जून 2022 मे कितने एकादशी आएंगे?

मई 2022 मे कुल 2 एकादशी आएगा। निर्जला एकादशी और योगिनी एकादशी

Leave a Comment